cow

जानें पशु पालन में ध्यान रखने योग्य सावधानियों के बारे में

पशु को जहां तक संभव हो हरा चारा देना चाहिए।

पशुओं को जहां तक हो सके नाल से दवा नहीं देनी चाहिए।

दूध मुट्ठी से निकालना चाहिए।

पशुओं को आयोडीन युक्त नमक अवश्य खिलाना चाहिए।

थनैला रोग होने पर तुरंत नज़दीके के डॉक्टर से सम्पर्क करना चाहिए।

पशुओं को हर तीन महीने बाद पेट के कीड़ों की दवा अवश्य देनी चाहिए।

नस्ल सुधार के लिए कृत्रिम गर्भाधान का प्रयोग करना चाहिए।

संभव हो तो पशुओं के दूध का रिकार्ड रखना चाहिए।

कैल्शियम में विटामिन की छोटी शीशी मिलाकर नहीं रखनी चाहिए।

प्रत्येक महीने पशुओं को खनिज मिश्रण अवश्य खिलाना चाहिए।

पशुओं को ऑक्सीटोसिन का टीका नहीं लगाना चाहिए।

पशु 24-36 घंटे तक गर्मी में रहता है। अत गर्मी में आने के 12 घंटे बाद बीज रखवाना चाहिए।

कृषि और पशुपालन के बारे में अधिक जानकारी के लिए अपनी खेती एप्प डाउनलोड करें - एंड्राइड, आईफ़ोन